दिल्ली में इस कंस्‍ट्रक्‍शन साइट्स पर लगा 53 लाख का जुर्माना, ये थी वजह

दिल्ली में इस कंस्‍ट्रक्‍शन साइट्स पर लगा 53 लाख का जुर्माना, ये थी वजह

दिल्ली में इस कंस्‍ट्रक्‍शन साइट्स पर लगा 53 लाख का जुर्माना, ये थी वजह

नई दिल्ली। देश की राजधानी दिल्ली में प्रदूषण को लेकर केजरीवाल सरकार सख्त हो चुकी है। जिसको ध्यान में रखते हुए एंटी डस्‍ट अभियान भी चलाया जा रहा है। जो भी कंस्‍ट्रक्‍शन साइट्स इन नियमों का पालन नहीं करेंगे उनको जुर्माने का सामना करना पड़ेगा। बता दें कि एंटी डस्‍ट कैंपेन के चलते लगातार कंस्‍ट्रक्‍शन साइट्स का न‍िरीक्षण कर न‍ियमों का पालन का पता लगाया जा रहा है। न‍ियमों के उल्‍लंघन करने पर कंस्‍ट्रक्‍शन साइट्स माल‍िक को न केवल नोट‍िस जारी क‍िए जा रहे हैं बल्क‍ि उन पर भारी भरकम जुर्माना भी लगाया जा रहा है। 

 द‍िल्‍ली प्रदूषण न‍ियंत्रण सम‍ित‍ि की टीमों ने अब तक 522 जगहों का न‍िरीक्षण क‍िया है। अब तक 53.5 लाख रुपए का जुर्माना भी न‍ियम उल्‍लंघन के चलते लगा चुकी है। सरकार ने निर्माण साइट के चारों तरफ टीन शेड लगाने का निर्देश दिया है। यहां निर्माण साइट पर टीन शेड लगाया गया है। एंटी स्मॉग गन भी लगाया गया है। पानी का छिड़काव भी किया जा रहा है। इसके अलावा भी जो निर्देश दिए गए हैं, उन निर्देशों का अच्छी से तरह से पालन किया जा रहा है। बताते चलें क‍ि हाल ही में मंत्री गोपाल राय ने प्रगति मैदान के सामने एल एंड टी (एंटी कैनाल) साइट का भी न‍िरीक्षण क‍िया था। वहां पर दिल्ली सरकार की तरफ से जारी दिशा-निर्देशों का बड़े पैमाने पर उल्लंघन पाया गया था जिसके बाद सरकार की तरफ से उस पर सख्त कार्रवाई की गई है। वहीं, नार्थ दिल्ली स्थित निर्माणाधीन मेट्रो मॉल कमर्शियल काम्प्लेक्स का औचक निरीक्षण किया। जहां पर न‍ियमों का अनुपालन क‍िया जाना पाया गया था। उन्‍होंने कहा कि मुझे भरोसा है कि दिल्ली की सभी निर्माण एजेंसियां भी इसी तरह से सरकार के निर्देशों का पालन करेंगी। साथ ही, दिल्ली की सभी निजी निर्माण एजेंसियों और सरकारी निर्माण एजेंसियों से अपील करता हूं कि वे विकास के लिए निर्माण का कार्य करें, लेकिन मानदंडों का पालन करने हुए करें। जिससे कि प्रदूषण की इस लड़ाई को हम और मजबूती के साथ आगे बढ़ा सकें। लोगों के सांसों पर वायु प्रदूषण जो संकट आने की संभावना है, उससे उन्हें हम बचा सकें। इसके लिए दिल्ली सरकार की तरफ से यह एंटी डस्ट अभियान चलाया जा रहा है। 

पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने कहा था कि यहां पर निरीक्षण करने के बाद नियमों का उल्लंघन नहीं पाया गया। खुशी है कि दिल्ली सरकार की तरफ से निर्माण कार्य कर रही एजेंसियों के लिए जो भी दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं, उसका यहां पर पालन किया जा रहा है। द‍िल्‍ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने आज Anti Dust Campaign के तहत आईपी इस्टेट, महात्मा गांधी मार्ग पर स्थित निर्माण साइट का न‍िरीक्षण क‍िया। उन्‍होंने कहा कि एंटी डस्ट कैंपेन के अंतर्गत डीपीसीसी की टीमें अलग-अलग जिलों में जाकर निर्माण साइट का निरीक्षण कर रही हैं।इसी अभियान के तहत आज भी आईपी इस्‍टेट मार्ग पर साइट का न‍िरीक्षण क‍िया। उन्‍होंने बताया क‍ि द‍िल्‍ली सरकार की ओर से 7 अक्टूबर से शुरू हुए “Anti Dust Campaign” के तहत अब तक DPCC की टीमों द्वारा 522 अलग-अलग निर्माण स्थलों का दौरा क‍िया गया। इस दौरान 165 निर्माण स्थलों पर अनियमितता पाई गईं। इस पर DPCC ने सख्‍ती के साथ कार्रवाई करते हुए नोटिस जारी किए हैं और 53.5 लाख रुपए का जुर्माना भी लगाया है।