विधायक सिहाग ने फोन करके मुख्य्मंत्री को करोना से लड़ाई के लिए दिए तीन अहम सुझाव

विधायक सिहाग ने फोन करके मुख्य्मंत्री को करोना से लड़ाई के लिए दिए तीन अहम सुझाव

विधायक सिहाग ने फोन करके मुख्य्मंत्री को हल्का डबवाली में सिंचाई एवम् पीने के पानी की किल्लत से करवाया अवगत

करोना से लड़ाई के लिए दिए तीन अहम सुझाव।


हल्का डबवाली के विधायक अमित सिहाग ने मुख्यमत्री हरियाणा मनोहर लाल खट्टर से फोन पर बात कर उन्हें हल्का डबवाली सहित आस पास के क्षेत्र मे सिंचाई एवम् पीने के पानी की किल्लत से अवगत करा इसके समाधान की मांग की और साथ ही करोना से लड़ाई संबंधित अहम सुझाव भी दिए।
                   विधायक ने मुख्य्मंत्री को बताया कि नहर में पर्याप्त पानी होने के बावजूद जहां टेल तक पानी नहीं पहुंच रहा, वहीं ग्रामीण क्षेत्र में वाटर वर्क्स में पर्याप्त पानी न होने से पीने योग्य पानी की भारी किल्लत है जिसके चलते लोग खारा पानी पी कर बीमार पड़ रहे हैं। सिहाग ने उन्हें बताया कि उन्होंने इसके समाधान के लिए संबंधित विभाग के अधिकारियों से कई बार सम्पर्क किया पर कोइ हल नहीं निकला।         
                 विधायक ने कहा कि चैनलों की सफाई न होने के कारण टेल तक पानी नहीं पहुंच पा रहा और इस बात को स्वयं विभागीय अधिकारी भी मान चुके हैं कि चैनलों की सफाई न होना ही टेल तक पानी न पहुंचने का कारण है। सिहाग ने मुख्यमंत्री से चैनलों की सफाई करवाने का आग्रह किया ताकि टेल तक पानी पहुंच सके और पानी की किल्लत दूर हो सके। विधायक की मांग पर मुख्य्मंत्री ने उन्हें आज ही इस संदर्भ में आदेश जारी कर समाधान करने का आश्वासन दिया।
           चर्चा के दौरान विधायक ने मुख्यमंत्री को करोना से लड़ाई के लिए कुछ अहम सुझाव भी दिए। उन्होंने मुख्यमंत्री को कहा कि करोना से लड़ाई के लिए जरूरी संसाधन, वेंटीलेटर, ऑक्सिजन, कोविड केयर अस्पताल आदि तो धीरे धीरे बढ़ रहे हैं लेकिन सुचारू रूप से उपचार करने के लिए प्रशिक्षित विशेषज्ञ, पेरा मेडीकल स्टाफ, लैब टेक्नीशियन आदि की बहुत कमी है। उन्होंने कहा कि इस माहामारी के समय लगातार ड्यूटी करने के चलते मौजूदा स्टाफ पर अतिरिक्त बोझ है। ऐसे में सरकार को अनुबंध के आधार पर स्टाफ की अस्थाई भर्ती करनी चाहिए। ऐसा होने से जहां हम माहमरी सी उपयुक्त तरीके से लड़ सकेंगे वहीं लोगों को रोजगार भी मिलेगा।
              अमित सिहाग ने कहा कि महामारी के दौर में तीसरी लहर के साथ साथ कोविड के बाद (Post Covid), ब्लैक फंगस, खून में थक्के जमना, फेफड़ों का सिकुड़ना आदि बीमारियां पैदा हो गई है, जो एक बडी चुनौती बन कर सामने आ रही है। जिसके कारण अनेक लोग अपनी जान गवा चुके हैं। सिहाग ने इसके ईलाज के लिए ज़िला एवम् उपमंडल स्तर के अस्पतालों में अलग से पोस्ट कोविड क्लिनिक बनाने का सुझाव दिया जहां कोविड से ठीक हुए मरीजों को हो रही बीमारियों का ईलाज किया जाए, ताकि समय रहते ईलाज कर कीमती जानें बचाई जा सकें।
                विधायक ने मुख्य्मंत्री को वैक्सिन से संबंधित आमजन में पाई जा रही भ्रांतियों से भी अवगत कराया। उन्होंने बताया कि टीकाकरण की पहली और दूसरी डोज लगवाने के बीच में समय में बार बार बदलाव किया जा रहा है। पहले 28 दिन, फिर 4 से 6 सप्ताह और फिर 8 से 12 सप्ताह के किए गए बदलाव के कारण आमजन में भ्रांतियां पाई जा रही है। सिहाग ने मुख्य्मंत्री से इस संदर्भ में सरकार की तरफ से स्वयं बयान जारी कर, प्रेस कांफ्रेंस कर तथा विज्ञापन जारी कर पूरी जानकारी देने का निवेदन किया।
                    मुख्यमंत्री ने विधायक के सुझावों को उपयोगी बताते हुए उनके द्वारा दिए गए तीनों सुझावों को सरकार की करोना के खिलाफ़ बनाई नीति में शामिल करने का विश्वास दिलाया और साथ ही इन सुझावों के मध्यनजर उपयुक्त कदम उठाने की बात कही।


Amit Sihag dials CM, gives 3 pertinent suggestions regarding Covid. 

Also raises concern regarding irrigation & drinking water shortage.

Dabwali MLA Amit Sihag, through a telephonic conversation, gave 3 pertinent suggestions about future Covid management  to CM.