कुरुक्षेत्र यूनिवर्सिटी का बड़ा फैसला

कुरुक्षेत्र यूनिवर्सिटी का बड़ा फैसला

कुरुक्षेत्र यूनिवर्सिटी का बड़ा फैसला

कुरुक्षेत्र : कोरोना के चलते अप्रैल और नवंबर में परीक्षा न दे पाने वाले स्नातक और स्नातकोत्तर के विद्यार्थियों के लिए राहतभरी खबर है। कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय ने ऐसे विद्यार्थियों को परीक्षा के लिए बड़ा मौका दिया है। कुवि प्रशासन ने इन कक्षाओं की सेमेस्टर व वार्षिक परीक्षाएं 13 जुलाई लेने का फैसला लिया है। इसकी डेटशीट कुवि की वेबसाइट पर भी अपलोड कर दी है।

काेरोना के चलते 22 मार्च 2020 को जनता कर्फ्यू के बाद लाकडाउन लगा दिया था। इसके साथ कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय ने आदेशानुसार कुवि की गतिविधियों को बंद कर दिया था। अप्रैल व मई 2020 में होने वाली स्नातक और स्नातककोत्तर की परीक्षाएं भी स्थगित कर दी थी।

कुवि ने इसके बाद की परीक्षाएं आनलाइन शुरू की थी। पिछले दिनों कोरोना की दूसरी लहर में कुवि ने फिर परीक्षाओं को स्थगित कर दिया था और किसी तरह की गतिविधियां बंद कर दी थी। विद्यार्थियों की आनलाइन कक्षाएं ली जाने लगी थी।

अब कुवि फिर से खुल गई है। हालांकि फिलहाल रिसर्च से संबंधित काम ही किए जा रहे हैं। हालात सामान्य रही तो नए सत्र में दाखिलों के बाद कक्षाएं शुरू हो सकती है।

कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय ने अप्रैल व मई 2020 और नवंबर व दिसंबर 2020 सत्र की परीक्षाएं लेने का फैसला लिया है। इनमें अतिरिक्त, पेपर व अंक सुधार के छात्र भी शामिल होंगे हैं। विद्यार्थियों ने इस फैसले को राहतभरा बताया है।

  

कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय ने फिलहाल परीक्षा के मोड का फैसला नहीं लिया है। जानकारों की माने तो कुवि इस बार आफलाइन परीक्षा लेना चाहती है, जबकि छात्र संगठन आनलाइन परीक्षा की मांग कर रहे हैं। कुरुक्षेत्र सहित हर जिले में छात्र संगठन इसकी मांग उठा रहे हैं। गत दिनों एबीवीपी और एनएसयूआइ ने वीसी को ज्ञापन भी सौंपा है। उनका कहना है कि कोरोना के चलते लाकडाउन में विद्यार्थियों ने आनलाइन पढ़ाई की है। कोविड-19 की तीसरी लहर की आशंका को देखते परीक्षाएं आनलाइन लेनी चाहिए।