रक्षाबंधन पर खेला खूनी खेल: दामाद ने सास की हत्या की, पत्नी पर भी बरसाईं गोलियां

रक्षाबंधन पर खेला खूनी खेल: दामाद ने सास की हत्या की, पत्नी पर भी बरसाईं गोलियां

पंजाब के होशियारपुर जिले में रक्षाबंधन के दिन एक दामाद ने खौफनाक खूनी खेल खेला। छोटी सी बहस में परिवार की खुशियां मातम में बदल गईं। आरोपी ने पहले अपनी सास को मौत के घाट उतारा फिर इसके बाद पत्नी पर भी गोलियां बरसा दीं। आरोपी शनिवार को ही अमेरिका से अपनी ससुराल आया था।

पंजाब के फिरोजपुर जिले के झुंगियां (जंडोली) गांव में अमेरिका से ससुराल आए दामाद ने अपनी पत्नी से किसी बात पर बहस होने के बाद बीच बचाव करने आई पूर्व सरपंच सास की गोली मारकर हत्या कर दी। वहीं पत्नी को तीन गोली मारकर फरार हो गया। ग्रामीण घायल आरोपी की पत्नी को सिविल अस्पताल ले गए। गंभीर हालत को देखते हुए उसे जालंधर रेफर कर दिया गया। घटना की सूचना मिलते ही थाना चब्बेवाल की पुलिस ने मौके पर जांच शुरू कर दी है।


बताया जा रहा है बलवीर कौर पत्नी राजदीप सिंह निवासी झुंगिया (जंडोली) की बेटी शवदीप कौर उर्फ राणो की शादी चार साल पहले अमेरिका में रहने वाले मनदीप सिंह निवासी भरसिंघपूरा (जालंधर) के साथ हुई थी और शादी के बाद एक बार वह अपनी सुसराल रह कर गया था। 


मनदीप सिंह शनिवार को अपनी ससुराल आया था और रविवार सुबह पत्नी के साथ किसी बात को लेकर बहस हुई और इस दौरान वह शवदीप कौर का गला दबाने लगा। पत्नी के चिल्लाने पर उसकी मां बलवीर कौर ने कमरे में जाकर बीच बचाव करने की कोशिश की तो इससे खफा मनदीप सिंह ने अपनी सास को गोली मार दी। 

मनदीप सिंह अपनी पत्नी शवदीप कौर को भी गोली मारकर फरार हो गया। मनदीप सिंह ने घर से निकलते समय बाहर से कुंडी लगा दी ताकि कोई घर से बाहर न निकल सके। शवदीप के चिल्लाने पर पड़ोसियों ने आकर दरवाजा खोला तो वह हैरान रह गए। उन्होंने देखा कि अंदर बलवीर कौर जमीन पर खून से लथपथ पड़ी थी, जबकि शवदीप तड़प रही थी। उन्होंने जल्दी से गाड़ी का प्रबंध कर सिविल अस्पताल होशियारपुर पहुंचाया। जहां डॉक्टरों ने उसकी गंभीर हालत को देखते हुए जालंधर रेफर कर दिया। बलवीर कौर के गले में लगी गोली उसकी मौत का कारण बनी। 

एसआई हरीश कुमार ने बताया कि मृतका बलवीर कौर का शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है, घटना की जांच की जा रही है । उन्होंने बताया कि इस संबंध में वायरलेस संदेश जारी कर दिया गया है ताकि मनदीप सिंह विदेश न भाग पाए।