हरियाणा में 3.5 लाख कर्मचारियों की बल्ले-बल्ले, सीएम मनोहर लाल का बड़ा ऐलान

  1. Home
  2. Breaking news

हरियाणा में 3.5 लाख कर्मचारियों की बल्ले-बल्ले, सीएम मनोहर लाल का बड़ा ऐलान

manohar lal investment

k9media.live


हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने सरकार के नौ साल पूरे होने पर सूबे के 3.5 लाख कर्मचारियों को बड़ी राहत दी। सीएम ने ऐलान किया कि अब सरकार कर्मचारियों के डीए में 4% बढ़ोतरी करेगी। हरियाणा में सीएम के ऐलान के बाद डीए 42 प्रतिशत से बढ़कर 46% हो जाएगा। सीएम ने कहा कि जुलाई से सितंबर का एरियर दिसंबर में दिया जाएगा। कहा कि 25 दिसंबर 2014 को सुशासन दिवस मनाया था। इसी दिन सीएम विंडो की भी घोषणा की गई थी। अब तक इस विंडो पर 13 लाख शिकायतें दर्ज की गई हैं, अब तक लाखों का शिकायतों का निवारण किया जा चुका है। 

उन्होंने कहा कि जब हमने 2014 में प्रदेश की सत्ता संभाली थी तब हरियाणा का बहुत बुरा हाल था। इन चुनौतियों को साथ लेकर सरकार ने अपना काम शुरू किया। उस समय विपक्ष के लोग सरकार जाने के लिए सोच रहे थे कि अब गई कि तब गई, लेकिन उन सब बातों से आगे निकलकर सरकार ने अपने नौ साल पूरे किए।

मुझे सेवा का 40 साल का अनुभव हो चुका है। पहले पांच सालों में कुछ चुनौतियां भी आई, लेकिन जनता के सहयोग से उन चुनौतियों को पूरा किया। यही कारण रहा कि 2019 में वोट प्रतिशत में 3% की बढ़ोत्तरी की।


सरकारी विभागों में टेक्नोलॉजी का बेहतरीन इस्तेमाल प्रदेश सरकार की सबसे बड़ी उपलब्धि रहा है। इसके इस्तेमाल से न केवल भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाया गया, बल्कि विकास के नए रास्ते भी खुले हैं। टेक्नालॉजी का ही नतीजा है कि बिचौलियों को बाहर करते प्रदेश सरकार ने किसानों के खातों में ऑनलाइन तरीके से उनकी फसल के करीब 85 हजार करोड़ रुपए स्थानांतरित किए हैं।

नौ साल में दी एक लाख 14 हजार नौकरियां
सीएम मनोहर लाल ने दावा किया है कि उन्होंने अपने 9 साल के कार्यकाल में 114210 नौकरियां दी हैं। 41217 नौकरियां प्रकिया में हैं। जबकि 1999 से 2005 में पूर्व सीएम ओमप्रकाश चौटाला ने मात्र 15125 नौकरियां दी गई। 2005 से 2014 तक पूर्व सीएम हुड्डा ने 86067 नौकरियां दी। सीएम ने कहा कि सरकार आगे भी नौकरियों को देने का सिलसिला जारी रखेगी।

कन्या भ्रूण हत्या का दाग धुला
प्रदेश में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा आरंभ किए गए ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ अभियान का असर है कि 2014 में 871 रहने वाला लिंगानुपात छलांग लगाकर 932 पर पहुंच गया है। महिलाओं के प्रति अपराधों पर नियंत्रण के लिए 16 फास्ट ट्रैक अदालतें गठित की गई हैं। 12 वर्ष तक की बच्चियों के साथ दुष्कर्म के मामले में फांसी की सजा का प्रावधान किया गया है।

26 अक्टूबर को सरकार के नौ साल पूरे हो रहे हैं, इस दिन ही सरकार की तरफ से स्टेट लेवल कार्यक्रम होना था, लेकिन केंद्रीय नेताओं का टाइम नहीं मिल पाने के कारण यह कार्यक्रम में अब नवंबर में आयोजित होगा। इस कार्यक्रम में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह हरियाणा आएंगे। हालांकि मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी हरियाणा आने का न्योता दिया था, लेकिन पांच राज्यों में चुनाव होने के कारण उनका समय नहीं मिल पाया।

सीएम ने कहा कि परिवार पहचान पत्र (PPP) सरकार की महत्वाकांक्षी योजना है। वर्तमान में हरियाणा के 96 प्रतिशत से अधिक परिवारों के पास पीपीपी आईडी हो गई है। जैसे-जैसे लोग सरकारी योजनाओं के लाभ के पात्र होते जाएंगे, उन्हें बिना किसी आवेदन के इन योजनाओं का लाभ मिलता चला जाएगा।

आने वाले वाले साल 2024 में लोकसभा के साथ ही विधानसभा चुनाव होने हैं। हरियाणा में भाजपा का सत्ता में रहते हुए यह सेकेंड टर्म है। इसके साथ ही लोकसभा की सभी 10 सीटों पर भी भाजपा का कब्जा है। ऐसे में 2014 और 2019 के प्रदर्शन को दोहराने के लिए मुख्यमंत्री के सामने दोहरी चुनौती है। इसलिए मुख्यमंत्री अपनी पूरी कैबिनेट के साथ ही एक्टिव मोड में हैं। वह लगातार फील्ड में रहकर जनसंवाद भी कर रहे हैं।

Around The Web

Uttar Pradesh

National