रोहतक सांपला रोड पर फिर चली ताबड़तोड़ गोलियां, होटल के बाहर गाड़ी में बैठे प्रॉपर्टी डीलर को भूना

रोहतक सांपला रोड पर फिर चली ताबड़तोड़ गोलियां, होटल के बाहर गाड़ी में बैठे प्रॉपर्टी डीलर को भूना

रोहतक सांपला रोड पर फिर चली ताबड़तोड़ गोलियां,  होटल के बाहर गाड़ी में बैठे प्रॉपर्टी डीलर को भूना

रोहतक। हरियाणा में आये दिन गोलियां चल रही है और छोटी छोटी रंजिशों में भी हत्याएं हो रही हैं। गांव छारा में हुए ईंट व्यवसायी बिजेंद्र उर्फ मटरू पहलवान हत्याकांड के बाद कल देर रात रोहतक सांपला रोड पर फिर एक बार अंधाधुंध फायरिंग में बाइक सवार बदमाशों ने एक प्रोपर्टी डीलर को मौत के घाट उतार दिया। वारदात उस वक्त हुई जब प्रोपर्टी डीलर के दो साथी होटल में कमरा बुक कराने के लिए अंदर गए थे, जबकि वह कार में बैठा हुआ था। आसौदा थाना पुलिस ने अज्ञात बदमाशों के खिलाफ केस दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी हैं।

मिली जानकारी के अनुसार मूलरूप से बहादुरगढ़ के डाबोदा खुर्द निवासी 34 वर्षीय इन्द्रजीत उर्फ शोकड फिलहाल दिल्ली के बरकरवारा में अपने परिवार के साथ रह रहा था। वह महीने में एक-दो बार गांव आता-जाता रहता था। वह दिल्ली में प्रॉपर्टी डीलर था । 10 अक्टूबर की रात भी वह दिल्ली से गांव आया था। उसके बाद से ही वह अपने दोस्तों के साथ आसपास घूम रहा था। रात वह अपने साथी अमित व रवि के साथ अपनी जीप कंपास गाड़ी में सवार होकर रोहतक-सांपला रोड पर रोहद में आशीर्वाद होटल पर गया था। रवि व अमित अंदर होटल में कमरा बुक करने के लिए गए थे, जबकि इन्द्रजीत बाहर पार्किंग में गाड़ी के अंदर ही बैठा हुआ था। इसी बीच एक बाइक पर सवार होकर तीन बदमाश पहुंचे। इससे पहले इन्द्रजीत कुछ समझ पाता बदमाशों ने गाड़ी में पिछली सीट पर बैठे इन्द्रजीत पर ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी। इन्द्रजीत को 6-7 गोलियां मारने के बाद बदमाश मौके से फरार हो गए। 
इधर गोलियों की आवाज सुनकर रवि व अमित भी बाहर आए तो इन्द्रजीत गाड़ी में लहुलुहान पड़ा हुआ था। उसे तुरंत अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। सूचना के बाद पुलिस ने चारों तरफ नाकाबंदी भी की, लेकिन बदमाश हत्थे नहीं चढ़ पाए। आसौदा थाना पुलिस ने इन्द्रजीत के भाई प्रदीप कुमार की शिकायत पर अज्ञात बदमाशों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया हैं। आसौदा थाना प्रभारी बाबूलाल ने बताया कि मृतक इंदरजीत पर भी कई अपराधिक मामले दर्ज हैं। फिलहाल पुलिस यह पता लगाने की कोशिश कर रही है कि आरोपी कौन थे और इंद्रजीत की हत्या किस वजह से की गई है। साथ इंद्रजीत के शव का पोस्टमार्टम भी बहादुरगढ़ के सामान्य अस्पताल में करवाया जा रहा है।