भाई की हत्या कर खेत में दबाया शव, फोन पर बोला- मार दिया, लाश निकाल लो

भाई की हत्या कर खेत में दबाया शव, फोन पर बोला- मार दिया, लाश निकाल लो

भाई की हत्या कर खेत में दबाया शव, फोन पर बोला- मार दिया, लाश निकाल लो

रोहतक। रोहतक के गांव सिंहपुरा कलां में एक प्रवासी मजदूर ने अपने चचेरे भाई की गला दबाकर हत्या कर दी और तीन फ़ीट गहरा गड्ढा खोद कर गारे में शव को दफना दिया। हत्या को अंजाम दे खुद फरार हो गया। सभी दोनों को अभी तक लापता समझ रहे थे। दो दिन बाद अपने एक साथी को शराब के नशे में फोन पर बोला कि मैंने उसको मार कर दफना दिया है गारे में जाकर निकाल लो।  इसके बाद उसने सरपंच और पुलिस को सूचना दी। सोमवार दोपहर बाद डीएसपी महेश कुमार,थाना बहु अकबरपुर प्रभारी सत्यवान सिंह मौके पर पहुंचे।

मिली जानकारी के अनुसार यूपी के शाहजहांपुर निवासी युवक संतोष (35) की हत्या कर शव खेत में दबा दिया गया। हत्या संतोष के ताऊ के बेटे रणजीत ने की है। रंजीत ने हत्या के बाद शव को गन्ने के खेत में एक कमरे के पास ही गारा में दबा दिया था। रंजीत और संतोष करीब 15 दिन पहले यूपी के पीलीभीत के छोटू के साथ सिंहपुरा आए थे। तीनों गांव के प्रदीप के खेत में ही रह रहे थे। इन दिनों तीनों खेत में नाली बनाने का काम कर रहे थे। पुलिस को छोटू ने बताया है कि शनिवार रात के बाद से दोनों भाई लापता था। रविवार रात को उसके पास रंजीत का फोन आया कि उसने संतोष की हत्या कर दी है। इसके बाद उसने सरपंच और पुलिस को सूचना दी। 

सोमवार दोपहर बाद डीएसपी महेश कुमार,थाना बहु अकबरपुर प्रभारी सत्यवान सिंह मौके पर पहुंचे। सोमवार को पुलिस ने ड्यूटी मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में शव को जमीन खोदकर बाहर निकाला। पुलिस ने शव को पीजीआई के डेड हाउस में रखवाया है। मृतक के परिजनों के आने के बाद मामला दर्ज कर पोस्टमार्टम कराया जाएगा।
सिंहपुरा कलां के सरपंच प्रमोद ने बताया कि यूपी का एक युवक गांव निवासी प्रदीप के पास खेत में काम करता था। यूपी के युवक ने ही शाहजहांपुर निवासी संतोष को अपने पास बुला लिया था। दोनों खेत में रहकर काम करते थे। दो दिन पहले दोनों अचानक खेत से लापता मिले।

सरपंच ने बताया कि रविवार की रात दिल्ली से उनके साथ ही खेत में काम करने वाला एक युवक छोटू रोहतक पहुंचा और उसने बताया कि गांव के खेत में संतोष की हत्या हो चुकी है और शव खेत में ही गड्ढा खोदकर दबाया गया है। उसे शराब के नशे में फोन पर रंजीत ने बताया है। सरपंच ने मामले का पता चलते ही इस की सूचना पुलिस को दी। सोमवार को पुलिस गांव में पहुंची और छानबीन की। इसके बाद डीसी से ड्यूटी मजिस्ट्रेट नियुक्त करने की मांग की गई। डीसी ने तहसीलदार रोहतक जिवेंद्र मलिक की ड्यूटी तय की। शाम करीब साढ़े 4 बजे ड्यूटी मजिस्ट्रेट के सामने पुलिस ने खुदाई करके शव को बाहर निकला।

ग्रामीणों ने बताया कि संतोष की हत्या कर शव मुंह के बल दबाया गया था। साथ ही हाथ और पैर बंधे मिले हैं। उसकी जीभ बाहर निकल हुई थी। आंख के पास चोट के निशान हैं। शक है कि किसी ने पहले उस पर कस्सी या दूसरे हथियार से वार किया। इसके बाद गला दबाकर हत्या कर दी। साथ ही शव को गड्ढा खोदकर दबा दिया। पुलिस व ग्रामीणों को शक है कि जिस युवक के साथ संतोष खेत में रहता था, उसी का वारदात में हाथ हो सकता है। वह मौके से फरार है। अब युवक से पूछताछ के बाद पूरे मामले से पर्दा उठ सकेगा।

डीएसपी महेश कुमार ने कहा कि अभी यूपी के शाहजहांपुर के युवक संतोष का शव बरामद किया गया है। परिजनों को सूचना दे दी गई है। परिजनों के बयान दर्ज होने के बाद ही मामला दर्ज होगा। तहसीलदार जिवेंद्र मलिक ने कहा कि सिंहपुरा कलां के खेत में यूपी के युवक का शव दबा हुआ था। मेरी मौजूदगी में पुलिस ने शव को बाहर निकाला है। मृतक शाहजहांपुर का रहने वाला है। आगे की कार्रवाई पुलिस कर रही है।

इधर आरोपी की धरपकड़ के लिए रोहतक पुलिस ने यूपी पुलिस को सूचित कर दिया। सूत्रों के अनुसार आरोपी अपने घर पहुंच गया है और वहां अपने परिवार को अलग ही कहानी सुना रहा है। यूपी की पीलीभीत के छोटू ने बताया कि वह रंजीत के साथ काफी समय से सिंहपुरा गांव के खेतों में साथ काम कर रहा है। रंजीत करीब 15 दिन पहले ही गांव से आया था। इस वक्त वह अपने ताऊ के लड़के संतोष को भी साथ लेकर आया था। संतोष शादीशुदा है और उसकी एक बेटी है।