हरियाणा पुलिस के लिए नशा तस्कर बना बड़ी चुनौती

हरियाणा पुलिस के लिए नशा तस्कर बना बड़ी चुनौती

हरियाणा पुलिस के लिए नशा तस्कर बना बड़ी चुनौती

करनाल : करनाल में नशे का अवैध कारोबार थम नहीं रहा है। प्रदेश के आसपास के अन्य जिलों से ही नहीं बल्कि दूसरे प्रदेशों से भी नशा तस्कर करनाल पहुंच रहे है, जिसके चलते पूरा जिला नशे की गिरफ्त में दिखाई पड़ने लगा है और पुलिस के पास नशा तस्करी में लगे लोगों का रिकार्ड बढ़ता ही जा रहा है।

ये हालात तब है जब जिला में 18 पुलिस थाने खुले है तो एंटी नारकोटिक सेल भी हर समय तत्पर है। पुलिस आंकड़ों पर ही गौर करें तो नशा तस्कर पुलिस के लिए चुनौती बने हुए हैं। हालांकि पुलिस नशा तस्करों पर शिकंजा कसने के लिए भरसक प्रयासों में हैं, लेकिन नशा तस्करों पर अंकुश न लग पाने से युवा पीढ़ी इस गर्त में जा रही है। लाकडाउन के बावजूद यह कारोबार और भी धड़ल्ले से किया जाने लगा है।

नशीले पदार्थो की तस्करी में लगे लोगों के तार उत्तरप्रदेश, राजस्थान, झारखंड, पंजाब सहित अन्य प्रदेशों से भी जुड़े हैं। नशीले पदार्थो का जाल किस कदर फैलता जा रहा है, यह अंदाजा इसी से ही लगाया जा सकता है कि जिला करनाल में ही इसी वर्ष जनवरी माह से जून माह तक ही अवैध शराब को लेकर पुलिस ने 620 मामले दर्ज किए, जिनमें करीब 80 आरोपितों को गिरफ्तार भी किया गया। यहीं नहीं एनडीपीएस एक्ट के तहत अन्य प्रकार के नशीले पदार्थों को लेकर इस समय के दौरान करीब 90 मामले दर्ज किए गए, जिनमें 110 से अधिक आरोपितों को काबू किया जा चुका है।