विधायक अमित सिहाग के अथक प्रयासों के चलते, राजस्थान सरकार से तीन जर्जर पुलों के पुनः निर्माण को मिली मंजूरी

विधायक अमित सिहाग के अथक प्रयासों के चलते, राजस्थान सरकार से तीन जर्जर पुलों के पुनः निर्माण को मिली मंजूरी

टैंडर प्रक्रिया पूरी, मई के अन्त तक पूरा होगा निमार्ण कार्य: अमित सिहाग

हल्का डबवाली के युवा विधायक अमित सिहाग के अथक प्रयासों के चलते हल्का डबवाली में नहरों पर जर्जर हालत में पड़े तीन पुलों के पुनः निर्माण को राजस्थान सरकार ने मंजूरी दे दी है। इसकी जानकारी खुद विधायक ने एक प्रेस विज्ञप्ति जारी करके दी है।
               इस विषय में जानकारी देते हुए विधायक अमित सिहाग ने बताया कि जब से वे विधायक बने हैं तब से हल्के के विकास के लिए लगातार प्रयासरत हैं और हल्के के विभिन्न अहम मुद्दों को मुख्य्मंत्री से लेकर विधानसभा में उठा कर समाधान के लिए प्रयासरत हैं। उन्होंने बताया कि डबवाली हल्के में नहरों पर बने सात पुल की जर्जर हालत की गंभीरता को देखते हुए उन्होंने करीब नौ महीनों से इनके पुनः निर्माण के लिए प्रयास शुरू किए थे।
           सिहाग ने कहा कि इन पुलों की जर्जर हालत के चलते कभी भी हादसा होने की आशंका को देखते हुए उन्होंने इसके पुनः निर्माण के लिए मुख्यमंत्री हरियाणा से लेकर विधानसभा तक आवाज बुलन्द की। इसके बाद कोइ कार्यवाही न होने पर उन्होंने संबंधित विभाग के एसीएस, चीफ इंजीनियर से लेकर विभिन्न अधिकारियों  से निजी रूप में उनके दफ्तरों में मुलाकात कर समाधान करने की अपील की।
           विधायक ने बताया कि तीन राज्यों से नहर गुजरने के कारण, जानकारी के अभाव में ये पता नही चल पा रहा था कि इन पुलों का रखरखाव का जिम्मा किस सरकार का है, ऐसे में उन्होंने पंजाब और राजस्थान में अधिकारियों व सरकार से समन्वय बनाया, जिससे पता चला कि इन पुलों के रखरखाव का जिम्मा राजस्थान सरकार का है। इसके बाद उन्होंने राजस्थान के अधिकारियों से हनुमानगढ जाकर मुलाकात की। उसके बाद भी जब काम सिरे चढ़ता नही दिखा तो उन्होंने जयपुर में राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जी से मुलाकात कर सारी जानकारी देते हुए गुहार लगाई जिसके बाद उनके हस्तक्षेप के चलते इन सात पुलों में से तीन पुलों के पुनः निर्माण को मंजूरी मिली है। उन्होंने बताया कि इन पुलों के निर्माण में नई तकनीक का प्रयोग किया जायेगा और तकनीक के सफल होने पर, शेष बचे चार पुलों को भी इसी तकनीक से बनाया जायेगा। विधायक ने कहा कि भले ही वे विपक्ष में हैं लेकिन वे हल्के के विकास के लिए लगातार कोशिश करते रहते हैं और कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती, इन पुलों को मिली मंजूरी इसका बड़ा उदाहरण है। 
             सिहाग ने बताया कि इन्दिरा गांधी कैनाल पर दो करोड की लागत से होने वाले इन तीन पुलों जो कि गंगा से अबूबशहर नजदीक काला तीतर, सुकेराखेड़ा से डबवाली संगरिया रोड़, गोरीवाला से आसाखेड़ा स्टेट हाईवे वाया गंगा, जांडवाला, सड़क मार्गों पर बनने हैं, इनके पुनः निर्माण की टैंडर प्रक्रिया पूरी हो चुकी है और आगामी मई माह के अन्त तक कार्य पूरा हो जाएगा। सिहाग ने कहा कि वो मुख्यमंत्री राजस्थान का आभार व्यक्त करते हैं कि उन्होंने उनके आह्वान पर जनहित में इन पुलों के पुनः निर्माण को मंजूरी देते हुए दो करोड की राशि जारी की है।

बॉक्स : एक वोट से तीन राज्यों की सरकार में भागेदारी का नारा हुआ सार्थक : डॉ केवी सिंह

पुलों के पुनः निर्माण को मिली मंजूरी पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए वरिष्ठ कांग्रेस नेता डॉ केवी सिंह ने कहा कि वो चुनावों में अक्सर कहा करते थे की आप अगर अपने वोट से कांग्रेस प्रत्याशी अमित सिहाग को जिताओगे तो पंजाब और राजस्थान सरकार में भी आपकी भागेदारी बनेगी और आज वो बात सही साबित हो गई है। डॉ सिंह ने कहा कि हल्का डबवाली के विधायक ने पंजाब और राजस्थान सरकार एवम् वहां के अधिकारियों से सम्पर्क बना इन पुलों के पुनः निर्माण को मंजूरी दिलाई है। उन्होंने उम्मीद जताई कि शेष बचे हुए चार पुलों का पुनः निर्माण भी विधायक सरकार से समन्वय बना जल्द पूरा करवा लेंगे।