खानपुर महिला विश्वविद्यालय की रजिस्ट्रार व फाइनेंस अधिकारी समेत छह पर धोखाधड़ी व अन्य धाराओं के तहत मामला दर्ज

खानपुर महिला विश्वविद्यालय की रजिस्ट्रार व फाइनेंस अधिकारी समेत छह पर धोखाधड़ी व अन्य धाराओं के तहत मामला दर्ज
BPS WOMEN UNIVERSITY KHANPUR KALAN SONIPAT

रजिस्ट्रार व फाइनेंस अधिकारी समेत छह पर धोखाधड़ी व अन्य धाराओं के तहत मामला दर्ज
गोहाना :  अरुण कुमार 
गांव खानपुर कलां स्थित बीपीएस महिला विश्वविद्यालय के अधिकारियों व कर्मचारियों द्वारा गबन करने के मामले में रजिस्ट्रार डा. रितु बजाज, फाइनेंस अधिकारी समेत छह पर धोखाधड़ी व अन्य धाराओं के तहत मामला दर्ज हुआ है। मामला मुख्यमंत्री उड़नदेस्ता रोहतक की शाखा के अधिकारी कर्मबीर की शिकायत पर दर्ज हुआ है। खानपुर कलां महिला थाना की पुलिस नेमामला दर्ज करके जांच शुरू करदी है।
 करीब डेढ़ साल  पहले विश्वविद्यालय में गबन का मामला उजागर होने के बाद सरकार ने उड़नदस्ता रोहतक शखा को जांच दी थी। इस मामले की जांच कर्मबीर िसंह कर रहे हैं। आरोप है कि विश्वविद्यालय की लेखा शाखा की लिपिक  सीमा मलिक ने अधिकारियों व कर्मचारियों के साथ मिली भगत करके करोड़ों रुपये का गबन कर लिया। विभिन्न फंड और फीस के रुपयों की लिपिक सीमा  द्वारा पहले रसीद काट दी जाती और रिकार्ड मेंे दर्ज नहीं किया जाता।
 उसके बाद रुपयों को विश्वविद्यालय के खाते में जमा ही नहीं करवाया जाता था। 2017 में आनलाइन फीस जमा करवानी शुरू कीगई। इसके लिए संबंधित कर्मचारी से साफ्टवेयर तैयार नहीं करवाया गया। आरोप है कि सीमा डाटा आपरेटर और फाइलेंस अधिकारी से मिल कर गबन करती थी। मामला उजागर होने पर विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा सीमा से 26 लाख रुपये की रिकवरी की गई है, जबकि घोटाला करीब डेढ़ करोड़ का है। अब जांच अधिकारी कह रहे हैं िक विश्वद्यालय के अधिकारी 812 रसीदों का रिकार्ड नहीं दे रहे हैं। इस पर रजिस्ट्रार ड. रितु बजाज को 29 बार पत्र दिए जाचुके हैं और अन्य अधिकारियों से संपर्क किया जा चुका है।जांच अधिकारी ने शिकायत दी कि रजिस्ट्रार रितू बजाज, फाईनेंस आफिसर राजेश मनोचा, अपने कर्मचारी सीमा मलिक लिपिक लेखा शाखा, राजेश वर्मा पूर्व फाईनेंस आफिसर, वेदप्रकाश दुआ अकाउंट ऑफिसर, अजय मलिक डाटा एंट्री ऑपरेटर को बचाने के लिए बदनियति से मिलीभगत करके रिकार्ड प्रदान नहीं कर रहे है। उनकी शिकायत पर रजिस्ट्रार व अन्य अधिकारियों व कर्मचारियों के खिलाफ धोखाधड़ी व साजिश का मामला दर्ज किया गया है।