किसानों ने किया सांसद धर्मवीर सिंह के आवास और बाढड़ा से जजपा विधायक नैना चौटाला के कार्यालय का घेराव

किसानों ने किया सांसद धर्मवीर सिंह के आवास और बाढड़ा से जजपा विधायक नैना चौटाला के कार्यालय का घेराव
किसानों ने किया सांसद धर्मवीर सिंह के आवास और बाढड़ा से जजपा विधायक नैना चौटाला के कार्यालय का घेराव
चरखी दादरी जयवीर फोगाट,
05 जून,
संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर इलाके की फौगाट, सांगवान, श्योराण, चिड़िया पचगामा, इमलोटा सतगामा खाप समेत विभिन्न किसान, मजदूर, सामाजिक, व्यापारी और कर्मचारी संगठनों ने आज भाजपा सांसद धर्मवीर सिंह के आवास और बाढड़ा से जजपा विधायक नैना चौटाला के कार्यालय पर प्रदर्शन कर घेराव करते हुए जोरदार नारेबाजी की और तीन काले कानूनों की प्रतियां जलाई। अनहोनी को आशंका के चलते बड़ी तादाद में पुलिस बल तैनात रहा। प्रदर्शनकारियों ने हाथों में तिरंगे के साथ संयुक्त किसान मोर्चा के झंडे और नारे लिखी हुई पट्टिकाएं थाम रखी थी।
             इससे पहले सुबह 10 बजे से ही किसान और मजदूर मेजबान चौक के पास इकट्ठा होने शुरू हो गए थे। करीब 11.15 बजे सभी जुलूस के रूप में प्रदर्शन करते हुए बाढड़ा से जजपा विधायक नैना चौटाला के कार्यालय के बाहर पहुंचे और 10 मिनट तक तीन काले कानून रद्द करो, टोहाना में गिरफ्तार किसानों को रिहा करो के गगनभेदी नारे लगाए। सरकार के खिलाफ जोरदार नारेबाजी के बाद किसानों ने वहीं तीन काले कानूनों की प्रतियां जलाई।
          प्रदर्शनकारियों ने उसके बाद भाजपा सांसद धर्मवीर सिंह को कोठी की ओर प्रस्थान किया। इस बीच नारेबाजी चलती रही और पुलिस बल साथ चलता रहा। करीब 15 मिनट में किसान और मजदूर धर्मवीर सिंह के निवास पर पहुंच गए और वहां भी नारेबाजी कर तीन काले कानूनों की प्रतियों को आग के हवाले किया। विशेष बात ये रही कि नैना चौटाला के कार्यालय और सांसद धर्मवीर सिंह के निवास पर किसी ने गेट नहीं खोला। ऐतिहातन पुलिस बड़ी संख्या में मुस्तैद अवश्य दिखी। इस दौरान किसान नेताओं ने टोहाना में गिरफ्तार किसानों को अविलंब रिहा करने की मांग जोरशोर से उठाई।
           प्रदर्शन में फौगाट खाप उन्नीस के प्रधान बलवन्त नम्बरदार, खाप सांगवान 40 के सचिव नरसिंह डीपीई, श्योराण खाप पच्चीस के प्रधान बिजेंद्र बेरला, चिड़िया पचगामा के प्रधान राजबीर शास्त्री, इमलोटा सतगामा के ओमप्रकाश कलकल, पूर्व विधायक नृपेंद्र मांढी, किसान नेता राजू मान, सुरेश फौगाट, धर्मपाल महराणा, शमशेर फौगाट, सुरजभान सांगवान, कमलेश भैरवी, सुरेन्द्र कुब्जानगर, इनेलो नेता सत्यवान शास्त्री, नितिन जांघू, विनोद मोड़ी, रणधीर घिकाड़ा, राजकरण पांडवान, सुरेंद्र कटारिया, जगदीश हुई, विद्यानन्द हंसावास, राजकुमार हड़ौदी, धर्मेन्द्र छपार, नत्थूराम फौगाट, योगेश कलकल, प्रवीण चेयरमैन, अन्नदाता यूनियन के रामकुमार कादयान, सीताराम फौगाट, विद्यानन्द कमोद, डॉ चंदन, धर्मबीर समसपुर, रामकुमार सोलंकी, राकेश बेरला, महीपाल आर्यनगर, कृष्ण फौगाट, प्रदीप हुई, सत्यवान कालुवाला समेत सैकड़ों किसान मौजूद थे।
--------------------------------------------------