बॉर्डर पर किसानों की झोपड़ियों में लगी आग

बॉर्डर पर किसानों की झोपड़ियों में लगी आग

रियाणा। कुंडली बॉर्डर पर धरने पर बैठे किसानों की झोपड़ियों में गुरुवार को भीषण आग लग गई। फायर ब्रिगेड की गाड़ियों ने बमुश्किल आग पर काबू पाया। हालांकि इससे पहले ही सबकुछ राख हो चुका था। किसान नेता बलदेव सिंह सिरसा ने सरकार पर आरोप लगाए हैं। उन्होंने कहा कि शरारती तत्वों द्वारा आग लगाई गई है। यह सब सरकार के इशारे पर हुआ है, क्योंकि सरकार किसान आंदोलन को तोड़ना चाहती है। सरकार किसानों के खिलाफ बड़ी साजिश रच रही है।

बरकरार हैं किसानों के तेवर
केंद्रीय कृषि कानूनों के खिलाफ चल रहा किसान आंदोलन बेशक फीका नजर आता है, लेकिन तेवर पहले जैसे बरकरार हैं। कुंडली- मानेसर- पलवल (KMP) एक्सप्रेस-वे पर मांडौठी टोल प्लाजा के शुरू हो जाने से किसान नाराज हैं। उन्होंने टोल दोबारा बंद करवा दिया। किसान नेता गुरनाम सिंह चढ़ूनी ने एक वीडियो जारी करके टोल दोबारा बंद कराने का आह्वान किया था। इसके बाद आंदोलनकारी बुधवार को टोल पर पहुंच गए और टोल की वसूली बंद करवा दी। हालांकि इस दौरान टोल पर भारी संख्या में पुलिस वाले तैनात थे, लेकिन वे कुछ कर नहीं पाए।