Haryana Ayushman Card: हरियाणा में अब तक बने 1 करोड़ 3 लाख से अधिक आयुष्मान-चिरायु कार्ड

  1. Home
  2. HARYANA

Haryana Ayushman Card: हरियाणा में अब तक बने 1 करोड़ 3 लाख से अधिक आयुष्मान-चिरायु कार्ड

cs


 Haryana Ayushman Card: हरियाणा में प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत जन आरोग्य योजना का लाभ अंत्योदय परिवारों तक पहुंचाने के लिए मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल द्वारा शुरू की गई चिरायु हरियाणा योजना के माध्यम से आज प्रदेश की आधी आबादी को सरकारी व निजी अस्पतालों में 5 लाख रुपये तक के मुफ्त इलाज की सुविधा मिल रही है। अब तक कुल 1 करोड़ 3 लाख से अधिक आयुष्मान-चिरायु कार्ड बनाये जा चुके हैं, इसमें 74,33,548 चिरायु कार्ड तथा 28 लाख 89 हजार आयुष्मान कार्ड शामिल हैं। आयुष्मान-चिरायु हरियाणा योजना के तहत प्रदेश में लगभग 9 लाख मरीजों के इलाज के लिए 1130 करोड़ रुपये से अधिक के क्लेम दिए जा चुके हैं।

आयुष्मान भारत योजना में 1.20 लाख रुपये सालाना आय वाले परिवारों को ही शामिल किया गया था, जिनका नाम एसईसीसी-2011 के डाटा में था, इससे प्रदेश के लगभग 9.36 लाख परिवारों को लाभ मिला। लेकिन मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने प्रदेश के अधिक से अधिक लोगों को इस योजना का लाभ देने के उद्देश्य से इस योजना का दायरा बढ़ाकर चिरायु हरियाणा योजना शुरू की और सालाना आय की सीमा को 1.20 लाख रुपये से बढ़ाकर 1.80 लाख रुपये किया। इससे प्रदेश के लगभग 28 लाख से अधिक परिवार लाभान्वित हुए।

इससे एक कदम और आगे बढ़ते हुए मुख्यमंत्री ने अब 1.80 लाख रुपये से 3 लाख रुपये तक आय वाले परिवारों को भी इस योजना में लाकर चिरायु हरियाणा योजना के माध्यम से स्वास्थ्य लाभ प्रदान किया है, ताकि पैसे के अभाव में कोई गरीब परिवार गंभीर बीमारियों के इलाज से वंचित न रहे सकें। ऐसे परिवार मात्र 1500 रुपए का वार्षिक प्रीमियम देकर इस योजना का लाभ प्राप्त कर सकते हैं। राज्य में 1.80 लाख रुपये से 3 लाख रुपये तक आय वाले लगभग 8 लाख परिवार हैं, जो अब इस योजना के दायरे में आते हैं। इस प्रकार, आयुष्मान भारत और चिरायु हरियाणा योजना में लाभ लेने वाले परिवारों की संख्या लगभग 38 लाख हो जाएगी।

\मुख्यमंत्री ने 1.80 लाख रुपये से 3 लाख रुपये तक आय वाले परिवारों के लिए हरियाणा दिवस के अवसर पर 1 नवंबर, 2023 से नामांकन प्रक्रिया का शुभारंभ किया था, जिसकी अंतिम तिथि 31 अक्टूबर, 2024 है। प्रथम चरण में 39,534 परिवारों ने पंजीकरण करवाया है। 9700 से अधिक परिवारों, जिन्होंने 5 नवंबर, 2023 से 31 दिसंबर, 2023 तक पोर्टल के माध्यम से 1500 रुपये का भुगतान किया है, उन्हें 1 जनवरी, 2024 से योजना का लाभ एक वर्ष की अवधि तक जारी रहेगा।

नववर्ष पर मुख्यमंत्री ने आशा वर्कर, एचकेआरएन तथा एनएचएम कर्मियों को भी इस योजना में लाकर दिया तोहफा

नववर्ष 2024 में मुख्यमंत्री ने एक ओर बड़ी सौगात देते हुए आशा वर्कर्स सहित अन्य श्रेणियों को भी इस योजना में लाने का निर्णय लिया है। 1 जनवरी, 2024 से 4754 आशा वर्कर्स, जिनकी वार्षिक आय 1.80 लाख रुपये है, तथा 24051 एचकेआरएन कर्मचारी जो ईएसआई या ऐसी अन्य किसी योजनाओं के अंतर्गत कवर नहीं होते, उन्हें भी अब इस योजना का लाभ मिलेगा। साथ ही, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के 7814 अनुबंध कर्मचारियों को भी आयुष्मान-चिरायु हरियाणा  योजना के अंतर्गत लाभ प्रदान किया जाएगा। उपरोक्त सभी श्रेणियों को 1500 रुपये प्रति परिवार प्रति वर्ष के मामूली अंशदान पर योजना का लाभ मिलेगा।

        लाभार्थी परिवार के सदस्य सफल ई-केवाईसी और आयुष्मान चिरायु कार्ड बनवाने के लिए अपने निकटतम नागरिक सेवा केंद्रों या सार्वजनिक अस्पतालों में पीएमएएम काउंटर पर जा सकते हैं। इसके अलावा, लाभार्थी https://chirayuayushmanharyana.in/ पर स्वयं पंजीकरण के माध्यम से अपना कार्ड बना सकते हैं।

Around The Web

Uttar Pradesh

National