Haryana News: हरियाणा में दो पुलिसकर्मियों को किया गया सस्पेंड, फर्जी एनकाउंटर के लगे हैं आरोप

  1. Home
  2. HARYANA

Haryana News: हरियाणा में दो पुलिसकर्मियों को किया गया सस्पेंड, फर्जी एनकाउंटर के लगे हैं आरोप

cs


 

प्रेम विवाह करने वाले दंपती को गोली मारने के मामले में गोली मारने वाले लड़की पक्ष की ओर से पुलिस पर संगीन आरोप लगाए गए हैं।

पुलिस पर आरोप लगाने वाले लोगों ने अधिवक्ता संजीव तक्षक की अगुवाई में में उच्च स्तरीय जांच की मांग को लेकर मंगलवार को चरखी दादरी लघु सचिवालय में धरना दिया व पुलिस प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी कर रोष जताया।

पुलिस अधीक्षक ने मामले में संज्ञान लेते हुए तत्कालीन सीआईए इंचार्ज बलवान सिंह सहित दो पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया और मामले की जांच डीएसपी सुभाष चंद्र को सौंप दी है।

बता दे कि 6 मई 2023 को चरखी दादरी जिले के गांव उण निवासी युवक ने पड़ोस के रोहतक जिले के गांव पिलाना निवासी युवती के साथ प्रेम विवाह किया था।

जिसके बाद 14 नवंबर 2023 को युवक के घर पर पहुंचकर दोनों पर फायरिंग की गई थी जिसमें दोनों को गोली लगी थी। इस दौरान युवक के बाजू में एक गोली जबकि युवती को कई गोलियां लगी थी और उसे गंभीर हालात में रोहतक पीजीआई भर्ती करवाया गया था।

फर्जी एनकाउंटर कर पैर में गोली मारने का आरोप

गोली मारने के आरोप युवती के परिजनों पर लगे थे और बौंद कलां थाना पुलिस ने संबंधित धाराओं के तहत केस दर्ज किया गया था।

मामले के आरोपी लड़की पक्ष के लोगों का आरोप है कि पुलिस ने उनसे दस लाख रुपए लिए है और एक आरोपी सोनू उर्फ काला को 18 नवंबर की रात को आंखों पर पट्‌टी बांधकर फर्जी एनकाउंटर कर उसके पैर में गोली मारी है।

लघु सचिवालय में धरना शुरू कर दिया

मामले में उच्च स्तरीय जांच की मांग को लेकर उन्होंने सोमवार को दादरी एसपी को शिकायत सौंपी थी वहीं मंगलवार को दोपहर बाद लघु सचिवालय में धरना शुरू कर दिया है। धरने पर बैठे लोगों ने कहा कि प्रेम विवाह करने वाले दंपती पर फायरिंग करने के आरोपी सोनू को पांच लोगों की मौजूदगी में पुलिस के हवाले किया था लेकिन पुलिस ने रात को एनकाउंटर दिखाकर उसको गोली मारी है और पुलिस ने दावा किया कि आरोपी सबूत मिटाने गए थे उस दौरान मुठभेड़ हुई।

मामले की जानकारी देते DSP सुभाषचन्द्र

मामले की जानकारी देते DSP सुभाषचन्द्र

धरना दे रहे लोगों का आरोप है कि पुलिस ने जांच बंद करने के नाम पर उनसे दस लाख रुपए लिए हैं। उन्होंने एसपी को भी पूरे मामले से अवगत करवाया है और जांच की मांग की है।

दो पुलिसकर्मियों को किया सस्पेंड

डीएसपीडीएसपी सुभाष चंद्र ने बताया कि फर्जी एनकाउंटर व दस लाख रुपये लेने के संबंध में पिलाना के लोगों ने पुलिस अधीक्षक नीतिका गहलोत को शिकायत दी थी। मामले की गंभीरता को देखते हुए तत्कालीन सीआईए इंचार्ज बलवान सिंह व एएसआई मंजीत ढाका को सस्पेंड किया है। पुलिस अधीक्षक ने मामले की जांच उन्हें सौंपते हुए विभागीय कार्रवाई के आदेश दिए है। मामले की जांच की जाएगी और जो भी तथ्य सामने आएंगे उसके आधार पर आगामी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

Around The Web

Uttar Pradesh

National