कुरुक्षेत्र लोकसभा के गांवों में भाजपा वालों की एंट्री नहीं के पोस्टर लगे : डॉ. सुशील गुप्ता

  1. Home
  2. HARYANA

कुरुक्षेत्र लोकसभा के गांवों में भाजपा वालों की एंट्री नहीं के पोस्टर लगे : डॉ. सुशील गुप्ता

sushil gupta

k9media.live


आम आदमी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष और कुरुक्षेत्र लोकसभा से ‘इंडिया’ गठबंधन के प्रत्याशी डॉ. सुशील गुप्ता ने कैथल के पार्टी कार्यालय में प्रेसवार्ता की। इसके बाद कलायत विधानसभा के गांव एवं वार्ड में चुनावी यात्रा शुरू की। इस दौरान उनके साथ कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व केंदीय मंत्री जयप्रकाश जेपी के सुपुत्र विकास सहारण मौजूद रहे। इस मौके पर राम कुमार, वजीर ढांडा, संजय सातरोडिया, सीता राम, रणरूप मौर और दलबीर किरमारा भी मौजुद रहे। डॉ. सुशील गुप्ता ने अपनी चुनावी यात्रा गांव खरक पांडवा से शुरू की। इसके बाद वे गांव रामगढ़ पांडवा में लोगों से मिले। वहां से चौसाला में ग्रामीणों से रूबरू हुए। इसके बाद गांव जुलानी खेड़ा में पहुंचे। यहां से गांव बड़सीकरी कलां, बड़सीकरी खुर्द, कमालपुर, कलासर, खेड़ी शेरखान, भालंग, मटौर, शिमला और कलायत के वार्ड नं. यादव मोहल्ला पहुंचकर लोगों को संबोधित किया और आशीर्वाद लिया। इस दौरान उन्होंने बुजुर्गों और महिलाओं का आशीर्वाद लिया और "इंडिया" गठबंधन को भारी बहुमत से जिताने की अपील की। यात्रा का समापन देर शाम कलायत के वार्ड नं. 10 इंद्रा कॉलोनी में हुआ।

उन्होंने कहा कि जब से इंडिया गंठबंधन कुरुक्षेत्र से चुनाव प्रचार में उतरा है, तब से हम कुरुक्षेत्र के गांव गांव में जा रहे हैं। सभी गांव में भाजपा के प्रति रोष देखने को मिल रहा है। कुछ लोगों ने पोस्टर लगा रखे हैं कि इस गांव में भाजपा वालों की एंट्री नहीं है। इस माहौल के देखते हुए भाजपा के नेता टिकट लेने को तैयार नहीं हैं। क्योंकि वह जानते हैं कि यदि भाजपा की टिकट ली तो उनका गांवों में घुसना मुश्किल हो जाएगा। 

उन्होंने कहा कि जब भाजपा को व्यक्ति चुनाव लड़ने के लिए नहीं मिल रहे थे तो भाजपा ने पैरासूट से दूसरी पार्टियों के उम्मीदवार लाकर चुनाव मैदान में उतारा। जिस व्यक्ति को देश के प्रधानमंत्री मोदी और केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावडेकर ने लुटेरा कहा और 1 लाख 86 हजार करोड़ रुपए का कोयला चोर बताया था। आज उसी व्यक्ति को भाजपा अपना सिपाही बता रही है। जिस वजह से भाजपा में अंदरुनी कहल है और भाजपा के कार्यकर्ता उस व्यक्ति का बायकोट कर रहे हैं। भाजपा को कार्यकर्ता कह रहे हैं कि जिस व्यक्ति को हमने कोयला चोर कहा था आज उसको कोहिनूर कैसे कह सकते हैं और उसके लिए वोट कैसे मांगें।

उन्होंने कहा कल सबसे देखा कि कलायत में किस प्रकार से नवीन जिंदल का विरोध हुआ। कुरुक्षेत्र लोकसभा की जनता भाजपा की असलियत समझ चुकी है। जनता के सामने भाजपा को दोहरा चरित्र पूरी तरह से बेनकाब हो चुका है। उन्होंने कहा कि नवीन जिंदल भाजपा की वाशिंग मशीन में धुल गए है अब वो कोयला चोर नहीं कोहिनूर हो चुके हैं। नवीन जिंदल जवाब दे कि उसकी कंपनी ने 200 करोड़ रुपए के इलेक्टोरल बॉन्ड क्यों खरीदे। नवीन जिंदल ने 200 करोड़ रुपए उस पार्टी को दिए जो उन्हें चोर कहते थे। उन 200 करोड़ रुपए के बदले में नवीन जिंदल को स्टील और माइनिंग का सरकारी ठेका मिला। इसका जवाब भी दें कि क्या वो भ्रष्टाचार के रुपए थे।

उन्होंने कहा कि भाजपा एक तरह से वसूली गैंग का काम कर रही है। भाजपा नवीन जिंदल को ईडी और सीबीआई का डर दिखाकर यहां चुनाव में लाए हैं। नवीन जिंदल जानते हैं कि इस बार कुरुक्षेत्र से उनकी जमानत जब होने वाली है। उन्होंने कहा कि नवीन जिंदल को दो विकल्प दिए गए थे कि या तो यहां से चुनाव लड़ो या जेल जाओ। इसकी सच्चाई नवीन जिंदल ही जानते हैं। अब देश प्रदेश और कुरुक्षेत्र की जनता समझ रही है कि भाजपा किस प्रकार चंदे का धंधा चला रही है। भ्रष्टाचारी लोग भाजपा को दलाली देते हैं और पूरे देश में आराम से चोरी करते हैं। सुप्रीम कोर्ट ने इस इलेक्टोरल बॉन्ड की चोरी को उजागर करके देश के सामने ला दिया है।

उन्होंने कहा कि जो भ्रष्टचारी भाजपा के हिसाब से काम करेगा उसको लोकसभा और राज्यसभा की टिकट मिलगी और जो इमानदारी से भाजपा के खिलाफ आवाज उठाएगा उसको जेल मिलेगी, यही भाजपा को पैटर्न है। जब दो साल पहले मंडी में दो दो कारोबारियों की हत्या कर दी गई तब नवीन जिंदल कहां थे। 2015 में मुनीष मित्तल की हत्या हुई, 9 साल बाद भी हत्यारे पकड़े नहीं गए और आवाज उठाने वाले रोकी मित्तल को पूर्व सीएम खट्‌टर ने जेल में करा दिया। यदि पूर्व सीएम खट्टर ने व्यापारियों की सुरक्षा की होती तो आज सीएम खट्‌टर को वोट के लिए करनाल में झोली नहीं पसारनी पड़ती। अब देश और प्रदेश की जनता भाजपा से पूरा हिसाब लेगी।

Around The Web

Uttar Pradesh

National