Warning For Fake Callers:अब फेक कॉल करने वाले हो जाये सावधान, सरकार कॉल करने वाले की आईडी दिखाएगी आपके फ़ोन पर

  1. Home
  2. HARYANA

Warning For Fake Callers:अब फेक कॉल करने वाले हो जाये सावधान, सरकार कॉल करने वाले की आईडी दिखाएगी आपके फ़ोन पर

अब फेक कॉल करने वाले हो जाये सावधान


Warning For Fake Callers: कॉल करने वाले का नाम, फोटो दिखेगी मोबाइल स्क्रीन पर

कॉल करने वाले व्यक्ति का नाम फोटो के साथ आपके मोबाइल स्क्रीन पर दिखाई देगा, जिससे मोबाइल के माध्यम से होने वाले बैंक फ्रॉड जैसी घटनाओं पर अंकुश लग सके। टेलिकॉम रेग्युलेटरी अथॉरिटी ऑफ इंडिया (टीआरएआई) और सरकार एक नई पहल करने जा रही है।

इन दिनों मोबाइल कॉलिंग फ्रॉड का नया जरिया बनता जा रहा है।

फर्जी मोबाइल नम्बर होने की वजह से कई प्रकार के फ्रॉड की घटनाओं को अंजाम दिया जाता है। ऐसे लोगों की पहचान बहुत मुश्किल से होती है। जिले में बीएसएनएल के उपभोक्ता 3 लाख से अधिक हैं।

सिम और आधार कार्ड के अनुसार होगी केवाईसी

टीआरएआई की ओर से कॉल करने वालों के मोबाइल नम्बर के साथ उनकी फोटो भी दिखाई देगी। इसके लिए सरकार मोबाइल नम्बर केवाईसी शुरू करने जा रही है। केवाईसी दो प्रकार से होगी, जिसमें सिम कार्ड और आधार कार्ड शामिल है। इसमें आधार कार्ड अपने मोबाइल नम्बर से लिंक रहेगा। इसमें जब कोई व्यक्ति किसी को कॉल करेगा तो सामने वाले व्यक्ति के पास सिर्फ मोबाइल नम्बर ही नहीं बल्कि नम्बर के साथ कॉल करने वाले व्यक्ति का चेहरा भी दिखाई देगा। चेहरा आधार कार्ड के अनुसार रहेगा। सिम कार्ड खरीदने के दौरान ही दस्तावेजों के साथ ही फोटो को अटैच होगी। यानी जिस फोटो को सिम खरीदते समय लगाया है। वही फोटो कॉलिंग के दौरान दिखाई देगा।

केवाईसी के ये रहेंगे मापदंड

दूरसंचार विभाग के मापदंड़ों के अनुसार ही केवाईसी होगी। इस प्रक्रिया में टेलिकॉम कंपनियां सभी ग्राहकों से केवाईसी के नाम पर ऑफिशियल नाम और पता दर्ज करवाना होगा। इसके साथ ही वोटर आईडी कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस या फिर बिजली के बिल की रसीद देनी होगी। केवाइसी की नई प्रक्रिया के बाद कॉल करने वाला व्यक्ति अपनी पहचान नहीं छुपा पाएगा। टीआरएआई के नई नियमों के अनुसार सभी के लिए केवाईसी अनिवार्य होगी। नई प्रक्रिया में गैरजरूरी कॉमर्शियल कम्युनिकेशन (यूसीसी) या स्पैम कॉल और मैसेज की समस्या से छुटकारा मिल सकेगा। साथ ही फ्रॉड कॉलिंग को रोकने के लिए ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी को भी लागू किया गया है।

 

Around The Web

Uttar Pradesh

National