कलयुगी मां की करतूत, नवजात को मंदिर द्वार पर छोड़कर फरार हुई, मामला दर्ज

कलयुगी मां की करतूत, नवजात को मंदिर द्वार पर छोड़कर फरार हुई, मामला दर्ज

कलयुगी मां की करतूत, नवजात को मंदिर द्वार पर छोड़कर फरार हुई, मामला दर्ज

झज्जर। नवरात्रों में जहां लोग पूजा के लिए छोटी छोटी बच्चियों को देवी का स्वरूप मान घर लेकर आदर सहित लेकर आते हैं। वहीँ हरियाणा में नवरात्रों में नवजात बच्ची को देवी के द्वारे पर कलयुगी मां ने मरने के लिए छोड़ दिया। बच्ची मात्र दो दिन की है जिसे मां एक मंदिर के समीप बड़ के पेड़ के नीचे छोड़कर फरार हो गई। बच्ची की किलकारी सुनकर मंदिर आने वाले लोगों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। सूचना के बाद माछरौली थाना पुलिस ने बच्ची को अपने कब्जे में लिया तथा झज्जर के नागरिक अस्पताल में भर्ती कराया है, जहां बच्ची बिल्कुल स्वस्थ्य बताई गई हैं। पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी हैं। 

मिली जानकारी के ‌अनुसार माछरौली थाना क्षेत्र में पड़ने वाले गांव अहरी के मंदिर में सुबह के समय श्रद्धालु पूजा करने के लिए जा रहे थे। तभी उन्हें बच्चे को रोने की आवाज सुनाई दी। मंदिर के पास ही बड़ का पेड़ है, जिसके नीचे एक तख्त बिछा हुआ है। तख्त के पास जाकर देखा तो एक कपड़े से नवजात बच्ची लिपटी हुई थी। लोगों ने तुरंत इसकी सूचना गांव के सरपंच को दी। सरपंच की सूचना के बाद माछरौला थाना पुलिस भी पहुंच गई। पुलिस ने बच्ची को तुरंत नागरिक अस्पताल में भर्ती कराया। बच्ची शिशु वार्ड में भर्ती हैं।

जांच अधिकारी अशोक कुमार ने बताया कि बच्ची दो दिन की बताई गई हैं। संभवता बच्ची को अलसुबह या फिर रात के अंधेरे में यहां रखा गया है। बच्ची की मां की तलाश को लेकर आसपास के गांवों में पता लगाया जा रहा है कि कुछ दिन में किन महिलाओं को डिलीवरी होनी थी। पुलिस ने धारा 317 के तहत अज्ञात के खिलाफ केस भी दर्ज किया हैं। फिलहाल बच्ची की देखरेख अस्पताल की स्टाफ नर्स कर रही हैं।