हिसार में देर रात पिता को आया होश उड़ाने वाला फोन, बोला- काट दिया तेरा छोरा, आके लाश ले जा

हिसार में देर रात पिता को आया होश उड़ाने वाला फोन, बोला- काट दिया तेरा छोरा, आके लाश ले जा

हिसार में देर रात पिता को आया होश उड़ाने वाला फोन, बोला-  काट दिया तेरा छोरा, आके लाश ले जा

हिसार। हिसार में कल देर रात बड़वाली ढाणी निवासी के घर रात को होश उड़ाने वाला फोन आया जिसमे एक हत्यारे पिता पुत्र ने कहा कि - तेरा छोरा काट दिया है, आके लाश ले जा। 25 वर्षीय अतुल की महाबीर कालोनी निवासी पिता-पुत्र ने कुल्हाड़ी से वार कर हत्या कर दी। आरोपित पिता-पुत्र ने युवक की हत्या के बाद फोन कर कहा, आपका बेटा मार दिया, आकर शव ले जाओ। सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और शव को पोस्टमार्टम के लिए सिविल अस्पताल में भेज दिया। मामले में मृतक के भाई तेजेन्द्र वासी बडवाली ढाणी ने पुलिस को बयान दर्ज करवाए हैं।

उसने बताया की वह लकडी मिस्त्री का काम करता है। वे तीन भाई है और एक बहन है। वे सभी भाई बहन एक घर में रहते है। अतुल और दिनेश वासी बडवाली ढाणी ने दीपक उर्फ दिपू वासी महाबीर कालोनी के पास कुछ दिन पहले फलेक्स बोर्ड लगाने का काम किया था। उसके भाई अतुल के लेबर के करीब 2500 रुपये दीपक उर्फ दीपू ने देने थे। रविवार करीब 9-30 बजे रात को दीपू ने अतुल को फोन करके अपनी लेबर के रुपये लेने के लिए अपने घऱ बुलाया था।

जिस पर अतुल व दिनेश दोनो मोटरसाईकिल पर दीपक उर्फ दीपू के घऱ चले गए। जहां पर पहले से ही तैयार बैठे दीपू व उसके पिता राहुल ने मिलकर पहले दिनेश के सिर मे बाई तरफ उल्टी साइड से कुलहाडी से चोट मारी तथा राहुल ने अपने हाथ में लिया बांस का डंडा अतुल के सिर में मारा तथा दीपू ने अपने हाथ में ली हुई कुल्हाडी अतुल के सिर में मारी। जिससे अतुल दीपक के मकान के सामने गिर गया। यह सारा झगड़ा दीपक के मकान के सामने गली मे हुआ है। फिर दीपक ने फोन करके उसके चाचा अशोक को बताया की उसने और उसके पिता ने अतुल को कुल्हाडी से मार दिया है। इसको उठाकर ले जाओ। 

फिर वह और उसका चाचा अशोक मौके पर पहुचे, तो वहां पर दीपू अपने हाथ मे कुल्हाडी लिए हुए अपने मकान के सामने गली में बैठा था। उसका पिता राहुल भी मौके पर था। दीपक की दादी सावित्री दीपक की पत्नी शालु भी वही बैठे थे। वही पर दिनेश भी मौजूद था। जिसने उपरोक्त सारी घटना बारे उन्हें अवगत करवाया। इसके बाद वह और उसका चाचा अशोक अतुल को ईलाज के लिए सपरा अस्पताल में ले गए।

वहा से जहां डा. ने अतुल की मरहम पट्टी की। फिर अतुल को सिविल अस्पताल ले जाया गया। यहां डाक्टर ने अतुल को मृत घोषित कर दिया तथा दिनेश को भी चोट लगने का कारण मरहम पट्टी की। दीपक उर्फ दिपु व राहुल ने उसके भाई अतुल को बिना किसी कारण से चोटे मारकर उसकी हत्या की है। पुलिस ने शिकायत पर पिता पुत्र के खिलाफ केस दर्ज किया है।