सबसे लंबा हाईवे-दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस-वे हरियाणा के 65 गांवों से गुजरेगा

सबसे लंबा हाईवे-दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस-वे हरियाणा के 65 गांवों से गुजरेगा

सबसे लंबा हाईवे-दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस-वे
हरियाणा के 65 गांवों से गुजरेगा
गडकरी ने CM मनोहर लाल और केन्द्रीय 
मंत्री राव इन्द्रजीत सिंह के साथ किया निरीक्षण 

देश की राजधानी दिल्ली को आर्थिक राजधानी मुंबई से सीधे जोड़ने वाले देश के सबसे लंबे दिल्ली-मुम्बई एक्सप्रेस-वे का गुरुवार को निरीक्षण किया गया। केंद्रीय भूतल सड़क परिवहन व राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी खुद हेलिकॉप्टर से गुरुग्राम के सोहना में गांव लोहटकी पहुंचे। इस दौरान उनके साथ मुख्यमंत्री मनोहर लाल और केन्द्रीय मंत्री राव इन्द्रजीत भी रहे। नितिन गडकरी और मनोहर लाल के दौरे को देखते हुए पूरे क्षेत्र में सुरक्षा के कड़े इंतजाम नजर आए। कुछ देर निरीक्षण के बाद नितिन गडकरी आगे के लिए रवाना हो गए।

मील का पत्थर साबित होगा एक्सप्रेस-वे
निरीक्षण के बाद CM मनोहर लाल ने कहा कि इस एक्सप्रेस-वे के निर्माण से गुरुग्राम ही नहीं, बल्कि नूंह एवं पलवल के कई इलाकों में विकास की रफ्तार तेज होगी। एक्सप्रेस-वे का निर्माण देश के विकास में मील का पत्थर साबित होगा। निरीक्षण में साथ रहे केन्द्रीय मंत्री एवं गुरुग्राम से सांसद राव इंद्रजीत सिंह ने कहा कि इस एक्सप्रेस-वे का पूरा निर्माण होने के बाद दिल्ली-मुम्बई की दूरी तो कम ही होगी। साथ ही विकास की रफ्तार काफी तेज होगी। लोगों को भी सफर करने में काफी फायदा होगा।

8 लेन का बन रहा है एक्सप्रेस-वे
देश का सबसे लंबा 8 लेन का यह एक्सप्रेस-वे हरियाणा में पलवल के 7, नूंह के 47 व गुरुग्राम के 11 गांवों से होकर गुजरेगा। इसकी शुरुआत गुरुग्राम-अलवर रोड पर गांव अलीपुर से होगी। प्रदेश में इसका आखिरी गांव नूंह के फिरोजपुर झिरका का कालगांव है।