शहीद की पत्नी की पुकार 'ओए उठ जा... मैंनू देख ले एक वारी', भावुक कर देने वाली कहानी

शहीद की पत्नी की पुकार 'ओए उठ जा... मैंनू देख ले एक वारी', भावुक कर देने वाली कहानी

शहीद की पत्नी की पुकार 'ओए उठ जा... मैंनू देख ले एक वारी', भावुक कर देने वाली कहानी

पंजाब। हाल ही में जम्मू-कश्मीर के पुंछ सेक्टर में आतंकियों से हुई मुठभेड़ में एक जूनियर कमीशंड अधिकारी और चार सैनिक शहीद हो गए थे। अब इन शहीद सैनिकों में से एक है सिख रेजिमेंट के जवान गज्‍जन सिंह जिनकी कहानी आपको भावुक कर देगी। बता दें कि बुधवार को शहीद गज्‍जन सिंह को अंतिम विदाई दी गई। बड़ी संख्‍या में लोग अपने हीरो को आखिरी विदाई देने जुटे थे। हरप्रीत के करुण क्रंदन से सबका कलेजा फटा जा रहा था। वह बार-बार एक ही बात दोहरा रही थीं कि गज्‍जन बस एक बार उन्‍हें देख लें....गज्‍जन के पिता चरण सिंह खुद को ही नहीं संभाल पा रहे थे, बहू को क्‍या संभालते।

 गला रुंधा हुआ था, बस किसी तरह अंतिम संस्‍कार की प्रक्रिया निभा रहे थे। मां पहले से बीमार हैं, इसलिए बेटे ही शहादत की खबर उनसे छिपा ली गई। बता दें कि इसी साल फरवरी में 23 सिख रेजिमेंट के जवान गज्‍जन सिंह ने हरप्रीत कौर का ताउम्र साथ निभाने की कसम खाई थी। रोपड़ में बड़ी धूमधाम से दोनों की शादी हुई थी। दो महीने पहले गज्‍जन अपने भाई की शादी के लिए घर आए थे। 

मंगलवार को वे घर तो आए तो मगर तिरंगे में लिपटकर। हरप्रीत की शादी के चंद दिन ही हुए थे कि अब उसकी मांग सूनी हो गई। शादी की खुशियों से सही से समझ भी नहीं पाई थी। बता दें कि पथराई आंखों से पति के पार्थिव शरीर को निहारते हुए हरप्रीत बार-बार बस यही कह रही थी- 'ओए उठ जा... मैंनू तो देख ले एक वारी...जिसने भी इस वीडियो को देखा उसकी आंखे नम हो गई।