अलीगढ़ में PM मोदी को याद आया 'बचपन का प्यार', बताया कैसे जुड़ा इस गांव से कनेक्शन

अलीगढ़ में PM मोदी को याद आया 'बचपन का प्यार', बताया कैसे जुड़ा इस गांव से कनेक्शन

अलीगढ़ में PM मोदी को याद आया 'बचपन का प्यार', बताया कैसे जुड़ा इस गांव से कनेक्शन

 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ राजा महेंद्र प्रताप सिंह विश्वविद्यालय का शिलान्यास किया। विश्वविद्यालय के शिलान्यास के साथ ही पीएम मोदी ने उत्तर प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए चुनावी बिगुल भी फूंका। पीएम मोदी ने कहा कि अलीगढ़ कभी ताले बनाने के लिए फेमस था लेकिन अब यहां हथियार भी बनाए जाएंगे, जो देश की सीमाओं को सुरक्षित रखेंगे।

पीएम को याद आया बचपन
पीएम मोदी ने इस दौरान अलीगढ़ से जुड़े अपने बचपन के किस्से का जिक्र किया। पीएम मोदी ने बताया कि जब मैं छोटा था, तब यूपी के दो जिलों का नाम काफी सुनाई देता था। एक तो अलीगढ़, जिसके तालों का जिक्र एक मुस्लिम विक्रेता के कारण सुनने को मिलता था। पीएम मोदी ने बताय कि वो मुस्लिम मेहरबान हर तीन महीने हमारे गांव आते थे। पीएम मोदी ने कहा कि मुझे आज भी अच्छे से याद है कि वो आदमी काली जैकेट पहनता। वो दुकानों में अपने ताला रख कर जाता था और तीन महीने बाद आकर पैसे लेता था

पीएम मोदी ने बताया कि ताला विक्रेता अगल-बगल के गांवों में भी व्यापारियों के पास जाता था और उनको ताले देता। उस मुस्लिम व्यापारी की मेरे पिताजी से काफी अच्छी दोस्ती थी। पीएम मोदी ने कहा कि वो व्यापारी करीब 4-6 दिन हमारे गांव में रूकता था तब उसने जो पैसे इकट्ठे किए होते थे वो उसे मेरे पिता जी के पास पकड़ा जाता था। जब आसपास के गांवो से पैसे वसूल लेता तो मेरे पिता जी के पास रखे हुए पैसे लेकर वो वापिस लौट जाता था। वहीं अलीगढ़ के बाद जो दूसरा नाम सुना वो था-सीतापुर। पीएम मोदी ने बताया कि हमारे गांव में अगर किसी को आंख की बीमारी का इलाज करवाना होता था तो हर कोई कहता था सीतापुर जाओ। पीएम मोदी ने कहा कि ऐसे बचपन से मैं अलीगढ़ और सीतापुर से जुड़ा हूं।