महेंद्रगढ़ में खुलेंगे तरक्की के द्वार, जल्द मल्टी मॉडल लॉजिस्टिक हब का निर्माण कार्य होगा शुरू

महेंद्रगढ़ में खुलेंगे तरक्की के द्वार, जल्द मल्टी मॉडल लॉजिस्टिक हब का निर्माण कार्य होगा शुरू
महेंद्रगढ़ में खुलेंगे तरक्की के द्वार, जल्द मल्टी मॉडल लॉजिस्टिक हब का निर्माण कार्य होगा शुरू

- डिप्टी सीएम ने ली 5 विभागों के अफसरों की बैठक, तय समय पर कार्य शुरू करने के निर्देश

- प्रदेश के पिछड़े क्षेत्रों में नए उद्योग लगाने को प्राथमिकता दें अधिकारी - दुष्यंत चौटाला

 

चंडीगढ़, 2 जुलाई। हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने अधिकारियों को निर्देश दिए है कि महेंद्रगढ़ जिला के नांगल चौधरी में प्रस्तावित उत्तर भारत के बड़े इंटिग्रेटिड मल्टी मॉडल लॉजिस्टिक हब का जल्द से जल्द निर्माण कार्य शुरू किया जाए, इसके लिए जो भी औपचारिकताएं बची हैं, उनको यथाशीघ्र पूरा किया जाए। उन्होंने कार्य में सुस्ती बरतने वाले अधिकारियों को अपनी कार्यप्रणाली में सुधार करने की बात भी कही।

 

डिप्टी सीएम, जिनके पास उद्योग एवं वाणिज्य विभाग का प्रभार भी है, ने शुक्रवार को इस लॉजिस्टिक हब  के निर्माण कार्यों से संबंधित बिजली विभाग, जनस्वास्थ्य एवं अभियांत्रिकी विभाग, सिंचाई एवं जल संसाधन विभाग, लोक निर्माण (भवन एवं सड़कें) विभाग के अलावा हरियाणा राज्य औद्योगिक एवं बुनियादी ढांचा विकास निगम के आला अधिकारियों के साथ हब की तैयारियों की समीक्षा बैठक की। उन्होंने उक्त सभी विभागों के प्रस्तावित निर्माण कार्य का नक्शे के माध्यम से अवलोकन किया और बारीकी से अध्ययन करने के बाद अधिकारियों को टाइम-लाइन देते हुए निर्धारित अवधि में सभी औपचारिकताएं पूरी कर कार्य शुरू करने के निर्देश दिए।

 

डिप्टी सीएम ने उद्योग एवं वाणिज्य विभाग तथा हरियाणा राज्य औद्योगिक एवं बुनियादी ढांचा विकास निगम के अधिकारियों को विशेष निर्देश देते हुए कहा कि प्रदेश के पिछड़े क्षेत्रों में नए उद्योग लगाने को प्राथमिकता दें न कि पारंपरिक रूप से पहले ही विकसित औद्योगिक क्षेत्रों में।

 

दुष्यंत चौटाला ने समीक्षा बैठक के बाद बताया कि नांगल चौधरी में इंटिग्रेटिड मल्टी मॉडल लॉजिस्टिक हब के खुलने से दक्षिणी हरियाणा में पहली बार मल्टीनेशनल कंपनियों का आगमन होगा और महेंद्रगढ़ जिला के लिए राजस्व का हिस्सा भी बढ़ेगा। उन्होंने कहा कि यह हब क्षेत्र के चहुंमुखी विकास एवं रोजगार के लिए मील का पत्थर साबित होगा। डिप्टी सीएम ने बताया कि इस लॉजिस्टिक हब को दिल्ली-मुंबई डेडिकेटेड रेल फ्रेट कॉरिडोर का भी लाभ मिलेगा। उन्होंने बताया कि कंपनियों के लिए कच्चा माल लाने और तैयार माल ले जाने में कॉरिडोर अहम भूमिका निभाएगा तथा दिल्ली-मुंबई के बीच कंटेनर के माध्यम से लाने या ले जाने वाले सामान को यहां पर उतारा या चढ़ाया जा सकेगा।