डीईओ का छापा, स्कूल में पढ़ते मिले नन्हे-मुन्ने

डीईओ का छापा, स्कूल में पढ़ते मिले नन्हे-मुन्ने

डीईओ का छापा, स्कूल में पढ़ते मिले नन्हे-मुन्ने

हिसार: जिला शिक्षा अधिकारी की टीम ने आज शहर व ग्रामीण क्षेत्रों के स्कूलों में छापे मारे। इस दौरान कई स्कूलों में बंद की गई कक्षाओं के विद्यार्थी पाए गए व कई स्कूलों में किताबें बेचे जाने का मामला भी सामने आया। जिस पर स्कूलों को टीम द्वारा नोटिस थमाए गए।

जिला शिक्षा अधिकारी कुलदीप सिंह सिहाग की टीम में डीएमएस जगदीश जाखड़ व अन्य कर्मचारी शामिल थे। डीएमएस ने बताया कि दिग्विजय मेमोरियल स्कूल, मॉडर्न डिफाइन स्कूल, द आर्यन स्कूल, लीडिंग सीनियर सैकेंडरी स्कूल सहित अन्य स्कूलों का निरीक्षण किया। इनमें से कई स्कूलों में पहली से 8वीं की कुछ कक्षाओं के बच्चे पाए गए। इस दौरान स्कूल प्रांगण में बेची जा रही किताबों की दुकानों का निरीक्षण भी किया। 

नियमों की अवहेलना पर होगी कार्रवाई

जिला शिक्षा अधिकारी ने कहा कि कक्षा पहली से 8वीं तक की कक्षाओं को किसी भी हालात में नहीं लगने दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि निजी प्रकाशकों की पुस्तकें लगवाने वाले स्कूलों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि सरकार व विभाग के नियमों की अवहेलना किसी भी कीमत पर सहन नहीं की जाएगी। उन्होंने कहा कि सभी निजी स्कूल कोविड-19 के नियमों का भी कड़ाई से पालन करें।

यहां बताना होगा कि ‘दैनिक ट्रिब्यून’ ने ‘निजी स्कूलों में धड़ल्ले से बेची जा रही हैं किताबें’ शीर्षक से प्रकाशित किया था, जिसके बाद शिक्षा अधिकारी हरकत में आए और स्कूलों का औचक निरीक्षण किया।