किसान संयुक्त मोर्चा का ऐलान, प्रदेश में संपत्ति नुकसान भरपाई बिल नहीं करेंगे किसी कीमत पर भी मंजूर

किसान संयुक्त मोर्चा का ऐलान, प्रदेश में संपत्ति नुकसान भरपाई बिल नहीं करेंगे किसी कीमत पर भी मंजूर

किसान संयुक्त मोर्चा के आह्वान पर किसान संगठनों ने हरियाणा सरकार के सम्पत्ति नुकसान भरपाई के विरोध में रोहतक में बैठक का आयोजन किया। किसानों का कहना है कि यह कानून 3 कृषि कानूनों से भी खतरनाक है। इसे किसी भी कीमत पर लागू नही होने दिया जाएगा। सरकार के प्रति किसानों में काफी गुस्सा है और सरकार के नेताओं का विरोध इसी तरह से जारी रहेगा। जेजेपी व भाजपा के नेताओं को कोई भी राजनैतिक व सरकारी कार्यक्रम नही करने देंगे।

किसान महासभा के प्रदेश उपाध्यक्ष प्रीत सिंह का कहना है कि आज की बैठक हरियाणा सरकार द्वारा आंदोलन के दौरान हुई संपत्ति के नुकसान की भरपाई आंदोलनकारियों से करने के कानून के खिलाफ बुलाई गई है। उन्होंने कहा कि यह कानून तो तीन कृषि कानूनों से भी खतरनाक है और इसे किसी भी कीमत पर लागू नहीं होने दिया जाएगा। संपत्ति का नुकसान भाजपा व आरएसएस के लोग करेंगे और भरपाई आंदोलनकारियों से की जाएगी। सरकार को इस कानून को वापस लेना पड़ेगा और इसके लिए वे सरकार को मजबूर कर देंगे।

साथ ही उन्होंने कहा की जेजेपी व भाजपा के नेताओं को कोई भी राजनीतिक व सरकारी कार्यक्रम नहीं करने दिया जाएगा और उनका विरोध जारी रहेगा। वह नेताओं से अपील करते हैं कि सरकारी व राजनीतिक कार्यक्रम करने की कोशिश ना करें। उदाहरण देते हुए कहा कि ट्रेलर सांपला में पूर्व केंद्रीय मंत्री वीरेंद्र सिंह के जन्म दिवस कार्यक्रम के विरोध में देख लिया होगा।