रेप केस में समझौता करवाने की एवज में 70 हजार रुपये लेते व्यक्ति को पुलिस ने रंगे हाथों गिरफ्तार किया

रेप केस में समझौता करवाने की एवज में 70 हजार रुपये लेते व्यक्ति को पुलिस ने रंगे हाथों गिरफ्तार किया

गांव अहड़वाला निवासी अजय शर्मा ने हुड्डा सेक्टर 17 थाना पुलिस को  शिकायत में बताया कि उसका छोटा भाई अरूण शर्मा मुगलवाली प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में फार्मिस्ट के पद पर कार्यरत है। उनके गांव की ही एक लड़की ने उसके व उसके माता पिता को जातिसूचक शब्द बोलने और उसके भाई अरूण शर्मा पर कोल्ड ड्रिंक में नशीला पदार्थ पिला कर दुष्कर्म करने का आरोप लगाया था। इस बारे उसने महिला थाने में शिकायत दी थी। मामले में बातचीत के लिए 27 मार्च को दोनों पक्षों को महिला थाना में बुलाया था। निर्धारित ‌समय पर दोनों पक्ष महिला थाना में आए थे। उनके साथ गांव के मौजिज लोग भी थे। लड़की के साथ उसके परिवार वाले व बिलासपुर निवासी राकेश कुमार उर्फ राजू भी आया था। थाने में दोनों पक्षों ने आपसी बातचीत के लिए समय लेकर चले गए थे। जब वे थाने से बाहर निकले तो राकेश उर्फ राजू ने उनसे मामले में समझौता करवाने के लिए दो लाख रुपये की मांग की। रुपये न देने पर झूठे मुकदमें में फंसवाने की धमकी दी थी। युवती द्वारा दी गई शिकायत के संबंध में दोनों पक्ष 31 मार्च को फिर से महिला थाने में पहुंचे थे। तब समझौता करवाने के लिए आरोपी राकेश उर्फ राजू से एक लाख 20 हजार रुपये में बात तय हो गई थी। आरोपी राकेश ने एडवांश 50 हजार रुपये की मांग की थी। तब उन्होंने बिलासपुर निवासी विजय शर्मा को 50 हजार रुपये दिए। यह रुपये उसने उसके सामने ही राकेश उर्फ राजू को महिला थाना के बाहर दे दिए थे। बकाया 70 हजार रुपये देने के लिए आरोपित राकेश ने उन्हें  जगाधरी अनाजमंडी गेट पर जिला न्यायिक परिसर के सामने बुलाया था। आरोपित को रंगे हाथ पकड़ने के लिए उन्होंने इसकी सूचना पुलिस को दी। पुलिस ने आरोपित को पकड़ने के लिए सेक्टर 17 थाना प्रभारी रामफल, एसआई रामकुमार, एसआई जसवंत सिंह, सिपाही सचिन की टीम बनाई गई। 70 हजार रुपयों के नोटों पर रंग लगाया। देर शाम करीब छह बजे पुलिस टीम जिला न्यायिक परिसर के पास खड़ी हो गई। इसके बाद वो और विजय शर्मा 70 हजार रुपयों को एक बंडल में लिपेटकर जगाधरी अनाजमंडी गेट पर पहुंचे। कुछ ही देर बाद आरोपित राकेश उर्फ राजू वहां पहुंच गया। उन्होंने आरोपित राकेश के हाथ में जैसे ही रुपये दिए, तभी पुलिस टीम ने दबिश देकर आरोपित को रंगे हाथ पकड़ लिया। पुलिस ने आरोपित राकेश उर्फ राजू के खिलाफ झूठे केस में फंसाने का भय दिखाकर जबरन वसूली करने के आरोप में धारा 384, 388 व 389 के तहत केस दर्ज किया। इसके बाद आरोपित को सीआईए टू पुलिस के हवाले किया। पुलिस आरोपित से पूछताछ कर रही है।