सोनीपत में नौकरी का फर्जी नियुक्ति पत्र देकर छात्रा से हजारों की ठगी

सोनीपत में नौकरी का फर्जी नियुक्ति पत्र देकर छात्रा से हजारों की ठगी

सोनीपत। नौकरी लगवाने के नाम पर लगातार ठगी के मामले सामने आ रहे है। बता दें कि हरियाणा के सोनीपत जिले में भी एक ऐसा ही मामला उजागर हुआ है। दरअसल एक छात्रा की नौकरी लगवाने के नाम पर उससे हजारो रुपए की ठगी का मामला सामने आया है। बताना लाजमी है कि सोनीपत शहर थाना क्षेत्र में खुद को मानवाधिकार आयोग का पदाधिकारी बताकर छात्रा का फर्जी नियुक्त पत्र देकर हजारों रुपये की नकदी ऐंठने के आरोप का मामला सामने आया हैं। पीडि़त छात्रा ने मामले की शिकायत पुलिस को दी। पुलिस ने इस संबंध में आरोपितों के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया हैं।

शातिर आरोपितों ने छात्रा का इंटरव्यू लेकर पार्क में ट्रेनिंग में भी दी। उसके बाद उससे ओर ज्यादा रुपये देने की मांग की जा रही हैं। जबकि वह अपनी नकदी वापस मांग रही है, तो उसे जान से मारने की धमकी दी जा रही हैं। गांव खेड़ी मारकंडा निवासी विश्वास पांचाल ने बताया कि वह एलएलबी की छात्रा हैं। उसकी मुलाकात सोनीपत कोर्ट परिसर में ब्रह्मनगर के रहने वाले मनोज कुमार से हुई थी। उसने खुद को नेशनल मानवाधिकार आयोग का बड़ा अधिकारी बताया। अपना परिचय पत्र भी दिखाया। उसने बताया कि मानवाधिकार आयोग में लीगल एडवाइजर की पोस्ट खाली है। इसके लिए उससे कागजात और 20 हजार रुपये लिए गए। मनोज ने अपने साथियों के साथ मिलकर उसका इंटरव्यू लिया। जिंदल यूनिवर्सिटी के सामने एक पार्क में उसको ट्रेनिंग दी गई।


पीड़िता ने बताया कि आरोपितों ने उसको 2012 के परिणाम की फर्जी लिस्ट थमा दी। उसका नाम लिस्ट में दिखाकर 36 हजार रुपये वेतन बताया गया। उसको आइ कार्ड और ज्वायनिंग लेटर थमा दिया। अब उससे दो लाख रुपये और मांगे जा रहे हैं। छात्रा ने मनोज पर ठगी करने के एक गैंग को चलाने का आरोप लगाया हैं। वह अपने साथियों के साथ मिलकर दर्जनों छात्र-छात्राओं के साथ ठगी कर चुका हैं। पुलिस ने इस संबंध में आरोपितों के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया हैं।